DVD Courses

Stock Market Complete DVD Course

DVD’s : 6 |  Duration 35 Hrs
Price : Rs. 15,000/-
Buy Now Know More

stock market advance course

DVD’s : 4 |  Duration 20 Hrs
Price : Rs. 10,000/-
Buy Now Know More

stock market basic course

DVD’s : 3 |  Duration 12 Hrs
Price : Rs. 7,000/-
Buy Now 
Know More

Technical Analysis Complete Course

DVD’s : 2 |  Duration 6 Hrs
Price : Rs. 2,700/-
Buy Now 
Know More

Demo Video #1

Demo Video #2

stock market complete course tradeniti

Stock Market Complete Course | शेअर मार्केट सम्पूर्ण कोर्स :
कालावधि ३० दिन |  प्रतिदिन ९० मिनट | प्रश्नोत्तर सेशन |  दैनिक होमवर्क |

 

शेअर मार्केट कोर्स यानि सिर्फ शेअर मार्केट के बारे में बता देने भर से सम्पूर्ण नहीं बन जाता | हमें ये देखना होगा की शेअर मार्केट को समझने के लिए या फिर शेअर मार्केट से मुनाफा कमाने के लिए वो सब कुछ जानना होगा जो हर प्रोफेशनल ट्रेडर जानता है |

बेसिक से एडवांस : भारतवर्ष में जितने भी मार्केट्स है उन सभी की सामान्य जानकारी जैसे की वे क्यों अस्तित्व में आये ? कैसे काम करते है ? आम निवेशक से जुडी हर जानकारी और जब एक निवेशक ट्रेडर बन जाते है तब उन्हें जिन जानकरियों की जरुरत है वह सब जानकारी पहले दी जाती है |

उदा. कंपनी कैसे लिस्ट होती है ? कोर्पोरेट एक्टिविटी क्या होती है ? शेअर्स, कमोडिटी, फ्यूचर और ऑप्शन, करंसी मार्केट क्या है और कैसे काम करता है? टैक्स या पेनाल्टी कितनी और कैसे होती है ?

इकोनॉमी अनालिसिस : अगर आप न्यूज चैनल देखते है तो कई बार ऐसे ब्रेकिंग न्यूज भी देखते होंगे जिसका सीधा सम्बन्ध आपको समझ में नहीं आया हो – जैसे की मोनेटरी पालिसी, आय आय पि आंकड़े, इन्फ्लेशन [महंगाई] दर के आंकड़े, या जीडीपि ग्रोथ अनुमान .. ऐसे कई बातें है जो भारतीय बाजारों पे प्रभाव डालती है उन सभी बातों को इकॉनोमी अनालिसिस में सम्पूर्णत: सिखाया जाता है |

टेक्निकल अनालिसिस : जैसा की आप जानते है की हर एक्सपर्ट, ब्रोकर, फंड मैनेजर या एच एन आई टेक्नीकल अनालिसिस के आधार पर ही शेअर, कमोडिटी या करंसी को किस लेवल पर ट्रेड करना चाहिए इस बात का निर्णय लेता है | तो आपको भी टेक्नीकल अनालिसिस सम्पूर्णत: सिखाया जाता है जिसमें – कैंडलस्टिक चार्ट, सभी महत्त्वपूर्ण इंडिकेटर्स, चार्ट पैटर्न्स, कॉमन पिटफाल्स, थियारिज और ट्रेडिंग सिस्टम शामिल है |

फंडामेंटल एनालिसिस : फंडामेंटल अनालिसिस विषय को काफी मुश्किल समझा जाता है खास कर वो निवेशक जो फायनांस स्ट्रीम से नहीं है | पर अगर गौर किया जाए तो फंडामेंटल अनालिसिस करने के लिए आपको केवल बेसिक गणितीय जानकारी की ही आवश्यकता होती है | फंडामेंटल अनालिसिस में आप अन्युअल रिपोर्ट पढना, फ़ाय्नान्शिअल रेश्यो निकलना, बिजनेस मोडल समजना और कंपनी का वैल्युएशन करना सिख जायेंगे जिससे आप कंपनी के भविष्य का अनुमान निकल सकते है और सही कीमत पर शेअर में निवेश कर सकते है |

मनी मैनेजमेंट : डायवर्सिफिकेशन शब्द का मतलब यह है की आपका जितना भी निवेश है उसे इस तरह निवेशित किया जाए की एक बैलेंस्ड रिटर्न मिल सके | और ये कैसे किया जाता है वह हम उदाहरन सहित आपको बताएँगे | सामान्यत: ट्रेडर्स रिवेंज ट्रेडिंग, इमोशनल ट्रेडिंग, न्यूज आधारित शेअर्स, एक ही सेक्टर के कई शेअर या सेक्टर के बुरे शेअर में निवेश कर देते है और इस वजह से वे इतना बड़ा नुकसान उठाते है जितने की उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की होती | मनी मैनेजमेंट में आप यही सीखेंगे की एक सफल ट्रेड कैसे लिया जाए जिसका रिक्स कैल्युलेटेड हो | और अपने निवेश को प्रोफेशनल तरीके से कैसे डाय्वार्सिफाई किया जाए |

ट्रेडिंग सायकॉलॉजी : क्या आपने कभी गौर किया है की आप लो पे सेल करते है और हाई पे बाय करते है और जब मार्केट सिमित दायरे में होता है तब आप फंसे हुए ही होते है किसी न किसि शेअर में ? ऐसा क्यों होता है और अगर होता है मुझे कैसे पता है ? जो भी आम निवेशक करते है उसकी जानकरी मार्केट को पहले से होती है इसे सेंटिमेंट सायकल कहते है जिसे आपको विस्तार से बताया जाएगा और साथ ही साथ ट्रेडिंग में भावनाओं का कैसे मुनाफे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है या भी सिखाया जाएगा |

ट्रेडिंग स्ट्रेटिजी और सिस्टम : ट्रेडिंग तभी की जानी चाहिए जब आपके पास हर परिस्थिति से निपटने का प्रबंध पहले से ही किया हुवा हो | जिसे ट्रेडिंग स्ट्रेटिजी कहते है और ये कई तरह की होती हैं | कोर्स में आपको उदाहरन सहित बताया जाएगा की किस स्ट्रेटिजी को किन परिस्थितियों में इस्तेमाल कर सकते है | अगर आप एक ऐसा सिस्टम चाहते है जो एक सुव्यवस्थित ट्रेडिंग कॉल दें तो ऐसे सिस्टम को कैसे बनाया जाए और चार्ट पर अप्लाई किया जाये आप सिख जायेगे |

ट्रेडिंग के रूल्स और फैक्ट्स : आपने सुना होगा की ट्रेडिंग में डिसिप्लिन की जरुरत होती है और यह डिसिप्लिन है क्या और कैसे अनुशाषित रहा जाए | ट्रेडिंग करने के कुछ रुल है कुछ सिद्धांत है जिन्हें आप इस कोर्स के दौरान सीखेंगे साथ ही कुछ ऐसे फैक्ट्स होते है जिन्हें आप अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर सकते है |

केस स्टडी : हर विषय को सिखने के बाद हम रियल चार्ट पर उनकी स्टडी करते है जिससे फायदा ये होगा की जब आप इन जानकरियों के आधार पर कॉल निकलते है तब आप खुद ये जान सकते है की कौनसा टेक्नीकल सब्जेक्ट सबसे ज्यादा कारगर है जिसे आपको और गहराई से सीखना चाहिए |

advance course

Stock Market Advance Course | स्टॉक मार्केट अडवांस कोर्स

अगर आप फिलहाल ट्रेडिंग करते है और मार्केट के बेसिक्स जानते है तो यह कोर्स आपके लिए ही बना है |
कालावधि 15 दिन |  प्रतिदिन ९० मिनट | प्रश्नोत्तर सेशन |  दैनिक होमवर्क |

शेअर मार्केट कोर्स यानि सिर्फ शेअर मार्केट के बारे में बता देने भर से सम्पूर्ण नहीं बन जाता | हमें ये देखना होगा की शेअर मार्केट को समझने के लिए या फिर शेअर मार्केट से मुनाफा कमाने के लिए वो सब कुछ जानना होगा जो हर प्रोफेशनल ट्रेडर जानता है |

बेसिक से एडवांस : भारतवर्ष में जितने भी मार्केट्स है उन सभी की सामान्य जानकारी जैसे की वे क्यों अस्तित्व में आये ? कैसे काम करते है ? आम निवेशक से जुडी हर जानकारी और जब एक निवेशक ट्रेडर बन जाते है तब उन्हें जिन जानकरियों की जरुरत है वह सब जानकारी पहले दी जाती है |

उदा. कंपनी कैसे लिस्ट होती है ? कोर्पोरेट एक्टिविटी क्या होती है ? शेअर्स, कमोडिटी, फ्यूचर और ऑप्शन, करंसी मार्केट क्या है और कैसे काम करता है? टैक्स या पेनाल्टी कितनी और कैसे होती है ?

इकोनॉमी अनालिसिस : अगर आप न्यूज चैनल देखते है तो कई बार ऐसे ब्रेकिंग न्यूज भी देखते होंगे जिसका सीधा सम्बन्ध आपको समझ में नहीं आया हो – जैसे की मोनेटरी पालिसी, आय आय पि आंकड़े, इन्फ्लेशन [महंगाई] दर के आंकड़े, या जीडीपि ग्रोथ अनुमान .. ऐसे कई बातें है जो भारतीय बाजारों पे प्रभाव डालती है उन सभी बातों को इकॉनोमी अनालिसिस में सम्पूर्णत: सिखाया जाता है |

टेक्निकल अनालिसिस : जैसा की आप जानते है की हर एक्सपर्ट, ब्रोकर, फंड मैनेजर या एच एन आई टेक्नीकल अनालिसिस के आधार पर ही शेअर, कमोडिटी या करंसी को किस लेवल पर ट्रेड करना चाहिए इस बात का निर्णय लेता है | तो आपको भी टेक्नीकल अनालिसिस सम्पूर्णत: सिखाया जाता है जिसमें – कैंडलस्टिक चार्ट, सभी महत्त्वपूर्ण इंडिकेटर्स, चार्ट पैटर्न्स, कॉमन पिटफाल्स, थियारिज और ट्रेडिंग सिस्टम शामिल है |

मनी मैनेजमेंट : डायवर्सिफिकेशन शब्द का मतलब यह है की आपका जितना भी निवेश है उसे इस तरह निवेशित किया जाए की एक बैलेंस्ड रिटर्न मिल सके | और ये कैसे किया जाता है वह हम उदाहरन सहित आपको बताएँगे | सामान्यत: ट्रेडर्स रिवेंज ट्रेडिंग, इमोशनल ट्रेडिंग, न्यूज आधारित शेअर्स, एक ही सेक्टर के कई शेअर या सेक्टर के बुरे शेअर में निवेश कर देते है और इस वजह से वे इतना बड़ा नुकसान उठाते है जितने की उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की होती | मनी मैनेजमेंट में आप यही सीखेंगे की एक सफल ट्रेड कैसे लिया जाए जिसका रिक्स कैल्युलेटेड हो | और अपने निवेश को प्रोफेशनल तरीके से कैसे डाय्वार्सिफाई किया जाए |

ट्रेडिंग सायकॉलॉजी : क्या आपने कभी गौर किया है की आप लो पे सेल करते है और हाई पे बाय करते है और जब मार्केट सिमित दायरे में होता है तब आप फंसे हुए ही होते है किसी न किसि शेअर में ? ऐसा क्यों होता है और अगर होता है मुझे कैसे पता है ? जो भी आम निवेशक करते है उसकी जानकरी मार्केट को पहले से होती है इसे सेंटिमेंट सायकल कहते है जिसे आपको विस्तार से बताया जाएगा और साथ ही साथ ट्रेडिंग में भावनाओं का कैसे मुनाफे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है या भी सिखाया जाएगा |

ट्रेडिंग स्ट्रेटिजी और सिस्टम : ट्रेडिंग तभी की जानी चाहिए जब आपके पास हर परिस्थिति से निपटने का प्रबंध पहले से ही किया हुवा हो | जिसे ट्रेडिंग स्ट्रेटिजी कहते है और ये कई तरह की होती हैं | कोर्स में आपको उदाहरन सहित बताया जाएगा की किस स्ट्रेटिजी को किन परिस्थितियों में इस्तेमाल कर सकते है | अगर आप एक ऐसा सिस्टम चाहते है जो एक सुव्यवस्थित ट्रेडिंग कॉल दें तो ऐसे सिस्टम को कैसे बनाया जाए और चार्ट पर अप्लाई किया जाये आप सिख जायेगे |

ट्रेडिंग के रूल्स और फैक्ट्स : आपने सुना होगा की ट्रेडिंग में डिसिप्लिन की जरुरत होती है और यह डिसिप्लिन है क्या और कैसे अनुशाषित रहा जाए | ट्रेडिंग करने के कुछ रुल है कुछ सिद्धांत है जिन्हें आप इस कोर्स के दौरान सीखेंगे साथ ही कुछ ऐसे फैक्ट्स होते है जिन्हें आप अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर सकते है |

 केस स्टडी : हर विषय को सिखने के बाद हम रियल चार्ट पर उनकी स्टडी करते है जिससे फायदा ये होगा की जब आप इन जानकरियों के आधार पर कॉल निकलते है तब आप खुद ये जान सकते है की कौनसा टेक्नीकल सब्जेक्ट सबसे ज्यादा कारगर है जिसे आपको और गहराई से सीखना चाहिए |

basic course

स्टॉक मार्केट बेसिक कोर्स खास तौर पर उनके लिए बनाया गया है जो टेक्नीकल अनालिसिस सिख कर शोर्ट टर्म ट्रेडिंग करना चाहते है | शोर्ट टर्म ट्रेडिंग या फिर इंट्राडे ट्रेडिंग अगर प्रोफेशनल तरीके से किया जाते तो प्रयत्नों के उपरांत अच्छा रिटर्न लिया जा सकता है |

Learn Stock Market Basics in Hindi | Stock Market For Beginners

शेअर मार्केट बेसिक कोर्स :

कालावधि 10 दिन |  प्रतिदिन ९० मिनट | प्रश्नोत्तर सेशन |  दैनिक होमवर्क |

शेअर मार्केट कोर्स यानि सिर्फ शेअर मार्केट के बारे में बता देने भर से सम्पूर्ण नहीं बन जाता | हमें ये देखना होगा की शेअर मार्केट को समझने के लिए या फिर शेअर मार्केट से मुनाफा कमाने के लिए वो सब कुछ जानना होगा जो हर प्रोफेशनल ट्रेडर जानता है |

बेसिक से एडवांस : भारतवर्ष में जितने भी मार्केट्स है उन सभी की सामान्य जानकारी जैसे की वे क्यों अस्तित्व में आये ? कैसे काम करते है ? आम निवेशक से जुडी हर जानकारी और जब एक निवेशक ट्रेडर बन जाते है तब उन्हें जिन जानकरियों की जरुरत है वह सब जानकारी पहले दी जाती है |

उदा. कंपनी कैसे लिस्ट होती है ? कोर्पोरेट एक्टिविटी क्या होती है ? शेअर्स, कमोडिटी, फ्यूचर और ऑप्शन, करंसी मार्केट क्या है और कैसे काम करता है? टैक्स या पेनाल्टी कितनी और कैसे होती है ?

टेक्निकल अनालिसिस : जैसा की आप जानते है की हर एक्सपर्ट, ब्रोकर, फंड मैनेजर या एच एन आई टेक्नीकल अनालिसिस के आधार पर ही शेअर, कमोडिटी या करंसी को किस लेवल पर ट्रेड करना चाहिए इस बात का निर्णय लेता है | तो आपको भी टेक्नीकल अनालिसिस सम्पूर्णत: सिखाया जाता है जिसमें – कैंडलस्टिक चार्ट, सभी महत्त्वपूर्ण इंडिकेटर्स, चार्ट पैटर्न्स, कॉमन पिटफाल्स, थियारिज और ट्रेडिंग सिस्टम शामिल है |

ट्रेडिंग सायकॉलॉजी : क्या आपने कभी गौर किया है की आप लो पे सेल करते है और हाई पे बाय करते है और जब मार्केट सिमित दायरे में होता है तब आप फंसे हुए ही होते है किसी न किसि शेअर में ? ऐसा क्यों होता है और अगर होता है मुझे कैसे पता है ? जो भी आम निवेशक करते है उसकी जानकरी मार्केट को पहले से होती है इसे सेंटिमेंट सायकल कहते है जिसे आपको विस्तार से बताया जाएगा और साथ ही साथ ट्रेडिंग में भावनाओं का कैसे मुनाफे के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है या भी सिखाया जाएगा |

ट्रेडिंग स्ट्रेटिजी और सिस्टम : ट्रेडिंग तभी की जानी चाहिए जब आपके पास हर परिस्थिति से निपटने का प्रबंध पहले से ही किया हुवा हो | जिसे ट्रेडिंग स्ट्रेटिजी कहते है और ये कई तरह की होती हैं | कोर्स में आपको उदाहरन सहित बताया जाएगा की किस स्ट्रेटिजी को किन परिस्थितियों में इस्तेमाल कर सकते है | अगर आप एक ऐसा सिस्टम चाहते है जो एक सुव्यवस्थित ट्रेडिंग कॉल दें तो ऐसे सिस्टम को कैसे बनाया जाए और चार्ट पर अप्लाई किया जाये आप सिख जायेगे |

केस स्टडी : हर विषय को सिखने के बाद हम रियल चार्ट पर उनकी स्टडी करते है जिससे फायदा ये होगा की जब आप इन जानकरियों के आधार पर कॉल निकलते है तब आप खुद ये जान सकते है की कौनसा टेक्नीकल सब्जेक्ट सबसे ज्यादा कारगर है जिसे आपको और गहराई से सीखना चाहिए |

technical Analysis dvd

echnical Analysis Video DVD and Online Video Stream. Technical Analysis in Hindi.

technical analysis video course tradeniti at just rs 2700 www.tradeniti.in


Hindi Technical Analysis Video Course | टेक्नीकल अनालिसिस हिंदी वीडियो कोर्स !

यह पांच आवर्स का कोर्स है | जिसे आप जब चाहें और जितनी बार चाहें अपने कम्यूटर, टैबलेट और मोबाइल पर देख सकते है | अगर आप ऑनलाइन स्ट्रीमिन्ग से वीडियोज देखना चाहते है तो यह सुविधा भी उपलब्ध है |


 

अगर कोई सब्जेक्ट समझ नहीं आये या सवाल हो तो ? | Question or problem on a subject ? Technical Analysis

एक्स्ट्रा क्लास या फिर सब्जेक्ट पर विस्तृत वीडियोज [ऑनलाइन]

आपके प्रश्न, शंका या किसी सब्जेक्ट के बारे में अधिक स्पष्ठ्ता चाहिए हो तो आप ऑनलाइन क्लास [केवल आप के लिए ] के लिए समय एवं अवधि आरक्षित कर सकते है |

अगर आप ऑनलाइन रहने में समय नहीं निकाल पाते या इंटरनेट कनेक्शन धीमा है तो आपके सब्जेक्ट पर विस्तृत वीडियो आपको सेंड किये जायेंगे |

Learn Technical Analysis Complete With DVD Course and with lifetime support. we will provide videos on your questions, subjects or doubts. also you have a access to newly uploaded video files on a updated subject like tax, new software, book or anything else.

This Technical Analysis DVD Course contains 4 DVD’s. two discs have complete course and another two DVD’s have recorded sessions of technical analysis online course.


tradeniti support

Instant Support

free shipping

Free Shipping (All India)

video support

Video Updates

Lifetime Support

 Lifetime Support


Have Questions? Lets Talk!

There are no products